Punjabi News, Punjab News, Punjab Infoline, Punjab Headline, Punjabi News Website, Punjab Classifieds, Free Classifieds, Punjab This Week, Punjabi Epaper, News Paper in Punjab, Punjabi News Paper

मुअत्तल मुलाजिम ने कौंसिल कर्मियो से की गाली-गलौच, धरना

Published On: punjabinfoline.com, Date: Jul 16, 2019

संगरूर,16 जुलाई (महेश जिंदल) नगर कौंसिल के जूनियर सहायक सहित अन्य मुलाजिमों से नगर कौंसिल संगरूर के मुअत्तल मुलाजिम द्वारा गाली-गलौच करने के मामले में दो दरखास्त थाना सिटी संगरूर में दिए जाने के बावजूद उक्त व्यक्ति पर कार्रवाई न होने से खफा कौंसिल मुलाजिमों ने सोमवार को कलम छोड़ हड़ताल करके दफ्तरी कामकाज ठप किया। म्यूनिसिपल कर्मचारी यूनियन सहित समूह सफाई सेवकों द्वारा दिए गए 72 घंटे का अल्टीमेटम समाप्त होने के बाद कलम छोड़ हड़ताल की गई। मुलाजिमों ने धरने दौरान पुलिस प्रशासन, मुअत्तल मुलाजिम के खिलाफ नारेबाजी की। मुलाजिमों ने उक्त मुअत्तल मुलाजिम को डेढ़ वर्ष से मुअत्तल करने के बावजूद अभी तक किसी अधिकारी को चार्ज न देने व बिना किसी के मंजूरी से दफ्तर में से दफ्तरी फाइलें व रिकार्ड उठाकर अपने साथ ले जाने का भी आरोप लगाया।
धरने के दौरान म्यूनिसिपल कर्मचारी यूनियन के प्रतिनिधि जूनियर सहायक अजय मोदगिल व सफाई सेवक मुलाजिम यूनियन के कार्यकर्ता रमेश कुमार ने कहा कि स्थानीय सुनामी गेट तिलकराम पेट्रोल पंप के सामने प्रताप नगर रोड के मोड़ पर बिना नक्शा पास करवाए दुकान का निर्माण किया जा रहा था, जिस पर नगर कौंसिल ने कार्रवाई करते हुए तुरंत 14 जून को मौके पर पहुंचकर निर्माण कार्य रुकवा दिया। इस दुकान का निर्माण नगर कौंसिल का मुअत्तल मुलाजिम की देखरेख में हो रहा था। जब कौंसिल के जेई, एसई व अन्य मुलाजिम काम रुकवाने पहुंचे तो कौंसिल के मुअत्तल मुलाजिम ने उनसे हाथापाई, गाली-गलौच व दु‌र्व्यवहार किया। इसके बाद 29 जून को नगर कौंसिल दफ्तर में आकर उसने नगर कौंसिल के अधिकारियों के आगे मुलाजिम से गाली-गलौच की व धमकियां दी। इन दोनों मामलों को लेकर कौंसिल अधिकारियों व मुलाजिमों ने थाना सिटी संगरूर में दो बार दरखास्त दी, लेकिन अभी तक भी पुलिस ने उक्त मुअत्तल मुलाजिम पर कोई कार्रवाई नहीं की। इसके रोष स्वरूप आज समूह मुलाजिमों द्वारा कलम छोड़ हड़ताल आरंभ की गई है तथा जब तक पुलिस कार्रवाई नहीं करेगी, तब तक संघर्ष जारी रहेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि रिश्वत लेने के केस में फंसे उक्त मुलाजिम को नगर कौंसिल ने करीब डेढ़ वर्ष पहले मुअत्तल कर दिया था, लेकिन इसके बावजूद भी अभी तक उसने किसी अधिकारी को अपना चार्ज नहीं सौंपा है।

Tags: mahesh jindal dhuri
  • Facebook
  • twitter
  • linked in
  • Print It

Last 20 Stories